Home Other ज्योतिषी Chandra Grahan 2023 | आज शरद पूर्णिमा के दिन गर्भवती महिलाएं ‘इस’ समय न निकलें घर से बाहर और बिलकुल न करें ‘ये’ काम | The Rajdhani Times

Chandra Grahan 2023 | आज शरद पूर्णिमा के दिन गर्भवती महिलाएं ‘इस’ समय न निकलें घर से बाहर और बिलकुल न करें ‘ये’ काम | The Rajdhani Times

0
Chandra Grahan 2023 | आज शरद पूर्णिमा के दिन गर्भवती महिलाएं ‘इस’ समय न निकलें घर से बाहर और बिलकुल न करें ‘ये’ काम | The Rajdhani Times

Loading

सीमा कुमारी

नवभारत डिजिटल टीम: साल 2023 का आखिरी ‘चंद्र ग्रहण’ (Chandra Grahan 2023) 28-29 अक्टूबर को शरद पूर्णिमा (Shrad Purnima 2023) की रात लगेगा। 28 अक्टूबर की रात लगने वाला ये चंद्र ग्रहण भारत में भी दिखाई देगा। भारतीय समय अनुसार, 28 अक्टूबर का ‘चंद्र ग्रहण’ भारत में रात 11.30 बजे से आरंभ हो जाएगा। और रात्रि 2 बजकर 24 मिनट पर खत्म होगा।

पंचांग के मुताबिक, चंद्र ग्रहण में सूतक काल 9 घंटे पहले से ही शुरू हो जाता है। ऐसे में 28 अक्टूबर को दोपहर 2:52 से सूतक शुरू होगा और ग्रहण समाप्ति पर ही सूतक काल खत्म होगा। इस दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। गर्भवती महिलाओं को भूलकर भी ये गलतियां नहीं करना चाहिए। आइए जानें इस बारे में-

ज्योतिष-शास्त्र के अनुसार, चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। ऐसा करने से गर्भस्थ शिशु को रेडिएशन के कारण नुकसान हो सकता है। गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान घर में ही रहना चाहिए। साथ ही, गर्भवती महिलाओं को चंद्रग्रहण के दौरान खाना भी नहीं बनाना चाहिए और न कुछ खाद्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से भी बच्चे की सेहत पर बुरा असर होता है।

शास्त्रों के अनुसार, गर्भवती महिलाएं चंद्र ग्रहण के दिन ज्यादा से ज्यादा विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।  महिलाओं को पूजा-पाठ में मन लगाना चाहिए लेकिन इस दौरान इस बात का खास ख्याल रखें कि महिलाएं मंदिर के अंदर न जाएं।

यह भी पढ़ें

इसके अलावा, इस दौरान गर्भवती महिलाओं को धारदार चीजों का उपयोग भी नहीं करना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को चंद्रग्रहण के दौरान चाकू, कैंची, सिलाई, कढ़ाई या बुनाई जैसा कोई भी काम नहीं करना चाहिए। ऐसा करना अशुभ माना जाता है।

मान्यता है कि, ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं अपने पास एक नारियल रख लें। इसे लेकर ऐसी मान्यता है कि नारियल रखने से सभी तरह हानिकारक विकिरण से बचा जा सकता है। इसके बाद इस नारियल को किसी पवित्र नदी में विसर्जित कर दें ।

कहा जाता है कि, ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को सोना भी नहीं चाहिए। ग्रहण काल में सोने से बच्चे पर बुरा असर हो सकता है। ग्रहण के दौरान चंद्र दर्शन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से मां और बच्चे दोनों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। ग्रहण काल में सफेद चीजों का दान जरूर करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here