Home Other ज्योतिषी Ganesh Chaturthi 2023 | ‘गणेश चतुर्थी’ की पूजा में ये गलतियां न करें, अवश्य रखें इन बातों का ध्यान, वरना निष्फल न रह जाए पूजा | The Rajdhani Times

Ganesh Chaturthi 2023 | ‘गणेश चतुर्थी’ की पूजा में ये गलतियां न करें, अवश्य रखें इन बातों का ध्यान, वरना निष्फल न रह जाए पूजा | The Rajdhani Times

0
Ganesh Chaturthi 2023 | ‘गणेश चतुर्थी’ की पूजा में ये गलतियां न करें, अवश्य रखें इन बातों का ध्यान, वरना निष्फल न रह जाए पूजा | The Rajdhani Times

सीमा कुमारी

नई दिल्ली: हर साल भाद्र मास की हरतालिका तीज पर्व के दूसरे दिन देश भर में बहुत ही उत्साह से ‘गणेश चतुर्थी'(Ganesh Chaturthi 2023) का पर्व मनाया जाता है। इस बार यह त्यौहार 19 सितंबर, मंगलवार के दिन है। मान्यता के मुताबिक, गणेश चतुर्थी में भगवान गणपति बप्पा की विधि विधान पूर्वक पूजा आराधना की जाती है। घर में उनकी प्रतिमा स्थापित की जाती है और उनके प्रिय वस्तुओं को अर्पित किया जाता है।

कई बार कई लोग भूल जाते हैं कि गणेश उत्सव में गणेश जी को क्या अर्पित करें और क्या ना अर्पित करें। तो आइए जानें गणेश उत्सव में बप्पा को क्या अर्पित करना चाहिए और क्या नहीं अर्पित करना चाहिए।

यह भी पढ़ें

ज्योतिष- शास्त्र के अनुसार, भगवान गणेश की पूजा में गलती से भी तुलसी की पत्तियों का इस्तेमाल नहीं करनी चाहिए। कहा जाता है कि गणेश की पूजा में तुलसी का इस्तेमाल करने से भगवान गणेश नाराज हो जाते हैं और पूजा का शुभ फल नहीं मिलता है। इसके पीछे कई पौराणिक कथाएं है। जिसमें धार्मिक ग्रंथो की माने तो एक बार भगवान गणेश ने तुलसी के विवाह के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। जिसके बाद तुलसी ने गणेश जी को दो विवाह होने का श्राप दे दिया था। शायद ही वजह है कि गणेश जी की पूजा आराधना में तुलसी अर्पित करना वर्जित बताया गया है।

यह भी पढ़ें

कहते है भगवान गणेश की पूजा करते समय कभी भी टूटे अथवा सुख अक्षत को नहीं अर्पित करना चाहिए, क्योंकि अक्षत का अर्थ ही होता है। जिसकी कोई छती ना हुई हो यानी जो पूरा हो। पूजा पाठ में प्रयोग होने वाले साबुत चावल को अक्षत माना जाता है।

धर्म शास्त्रों के अनुसार, कभी भी भगवान गणेश की पूजा में सफेद वस्त्र, सफेद जनेऊ और सफेद चंदन न चढ़ाएं। कहा जाता है कि भगवान गणेश को सफेद फूल या केतकी के फूल भी नहीं अर्पित करनी चाहिए। दरअसल, शिव जी को केतकी के फूल पसंद नहीं हैं, जिसकी वजह से भगवान गणेश को भी केतकी के फूल नहीं चढ़ाए जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here